Hatho ko gora kaise kare | हाथों का कालापन कैसे दूर करें


इस पोस्ट मे आप Hatho ko gora kaise kare के बारे मे जानेंगे। जब त्वचा की देखभाल की बात आती है, तो लोग अक्सर चेहरे की त्वचा के बारे में सोचते हैं और इसके लिए त्वचा देखभाल दिनचर्या विकसित करते हैं। वे हाथों और पैरों की उपेक्षा करते हैं, जो चेहरे की तरह संवेदनशील नहीं होते हुए भी अक्सर कठोर वातावरण के संपर्क में आते हैं।

इसका परिणाम हाथों और पैरों पर त्वचा का काला पड़ना हो सकता है, आमतौर पर अत्यधिक धूप के संपर्क में आने, ब्रोंजिंग उत्पादों के उपयोग और सनलेस टैनिंग तकनीकों, धूल, प्रदूषण या सफाई और छूटने की कमी के कारण।

इसलिए जरूरी है कि आप अपने हाथों और पैरों की त्वचा की भी ठीक से देखभाल करें। यदि आप देखते हैं कि इन क्षेत्रों में आपकी त्वचा का रंग गहरा हो गया है, तो आप इसे बाहर निकालने के लिए विभिन्न उपचारों को आजमा सकते हैं।

हाइपरपिग्मेंटेड त्वचा के लिए Office में उपचार:-

Hatho ko gora kaise kare

यदि आप अपने हाथों या पैरों में हाइपरपिग्मेंटेशन देखते हैं, तो आप निम्नलिखित उपचार विधियों के लिए त्वचा विशेषज्ञ से सलाह ले सकते हैं:

  • रासायनिक पील: त्वचा को एक्सफोलिएट करने के लिए हाथों और पैरों पर केमिकल्स लगाए जाते हैं, जिससे ऊपर की परत हट जाती है। यह नई त्वचा परतों को उजागर करता है जो सूरज की कम क्षति के कारण हल्के रंग की होती हैं। 
  • माइक्रोडर्माब्रेशन: त्वचा की ऊपरी परत को एक्सफोलिएट करने के लिए एक छोटे से बफ़िंग डिवाइस का उपयोग किया जाता है। (२) जैसे-जैसे त्वचा ठीक होती है, यह हल्का और स्वस्थ होता जाता है, इस प्रकार यह एक उज्जवल रूप देता है।
  • टीसीए छिलके: हाइपरपिग्मेंटेशन के उपचार के लिए व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले एक प्रकार के रासायनिक छिलके, TCA के छिलके मानक रासायनिक छिलके की तुलना में त्वचा में गहराई से प्रवेश कर सकते हैं। इस प्रकार यह रंजकता और दाग-धब्बों के लिए अधिक फायदेमंद है। यह आपकी त्वचा को चमकदार, मजबूत और यहां तक ​​कि टोंड बनाने में भी मदद करता है।
  • पीले छिलक: रेटिनोइक एसिड, कोजिक एसिड, फाइटिक एसिड और एजेलिक एसिड का उपयोग आगे हाइपरपिग्मेंटेशन को रोकने के लिए मेलेनिन संश्लेषण को अवरुद्ध करने के लिए किया जाता है। इन अवयवों का संयोजन मौजूदा त्वचा मलिनकिरण को हल्का करने में भी मदद करता है।
  • क्यू स्विच लेज: क्यू-स्विच लेजर प्रकाश की एक अदृश्य किरण के साथ त्वचा के हाइपरपिग्मेंटेड क्षेत्रों में मेलेनिन सामग्री को लक्षित करता है। मेलेनिन वर्णक इस प्रकाश ऊर्जा को अवशोषित करता है और विघटित हो जाता है, जिससे त्वचा हल्की और चिकनी दिखाई देती है। लेजर आसपास की त्वचा को प्रभावित किए बिना लक्षित क्षेत्रों की गहरी परतों में प्रवेश कर सकता है। क्यू-स्विच लेजर उपचार ६-८ सत्रों में प्रभावी परिणाम दिखाते हैं।
  • हैंड फिलर्स: हैंड फिलर्स का उपयोग करने से हाथों के हाइड्रेशन को बनाए रखने में मदद मिलती है, इसलिए हाइपरपिग्मेंटेशन को रोका जा सकता है।

प्राकृतिक रूप से हाथों और पैरों के कालेपन का इलाज करने के तरीके:-

Hatho ko gora kaise kare

त्वचा का कालापन आमतौर पर प्राकृतिक अवयवों का उपयोग करके उलटा किया जा सकता है जो त्वचा को एक्सफोलिएट और हल्का करते हैं। हाथों और पैरों के कालेपन को कम करने के लिए आप निम्न घरेलू नुस्खे आजमा सकते हैं।

1. हल्दी का मास्क लगाएं

हल्दी में मौजूद एक सक्रिय यौगिक करक्यूमिन में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो मेलेनिन उत्पादन को कम कर सकते हैं और इस प्रकार त्वचा के कालेपन को नियंत्रित कर सकते हैं।

आप अपनी त्वचा और सामान्य स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए हल्दी को त्वचा पर लगा सकते हैं और रोजाना सोने से पहले हल्दी वाले दूध के रूप में इसका सेवन भी कर सकते हैं।

कैसे इस्तेमाल करे:

ठंडे दूध में हल्दी मिलाकर पेस्ट बना लें। अपनी त्वचा पर पेस्ट की एक पतली परत लगाएं और 15-20 मिनट के बाद इसे धो लें। प्रभावी परिणामों के लिए इस उपाय को रोजाना दोहराएं।

1 चम्मच हल्दी में 2 चम्मच बेसन, 1 चम्मच दही और नींबू का रस मिलाएं। पेस्ट को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं और सूखने के लिए छोड़ दें। एक बार सूखने पर पेस्ट को धीरे से रगड़ें और फिर अपनी त्वचा को धो लें।

१/४ टी-स्पून हल्दी को २ टेबल-स्पून जैतून के तेल में मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। पेस्ट को त्वचा पर लगाएं। 10 मिनट बाद इसे धो लें। इस उपाय को हफ्ते में २-३ बार दोहराएं।

2. नमक के स्क्रब का इस्तेमाल करें

नमक के स्क्रब त्वचा के एक्सफोलिएशन में प्रभावी होते हैं, जिससे यह नरम, चिकना और स्वस्थ दिखाई देता है। नमक के स्क्रब का उपयोग करने से त्वचा के विषहरण को भी बढ़ावा मिल सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

१ कप डेड सी सॉल्ट या एप्सम सॉल्ट को १/४ कप कैरियर ऑइल जैसे एवोकाडो, ऑलिव या जोजोबा ऑइल के साथ मिलाएं।

लैवेंडर या नीलगिरी के आवश्यक तेल की 10-20 बूँदें जोड़ें।

इस स्क्रब से अपने हाथों और पैरों पर सर्कुलर मोशन में हल्के हाथों से मसाज करें।

15 मिनट बाद गुनगुने पानी से हाथ-पैर धो लें।

3. पैराफिन मोम उपचार का प्रयास करें

पैराफिन मोम उपचार त्वचा को चिकना, मुलायम और मॉइस्चराइज़ कर सकते हैं। मृत त्वचा कोशिकाओं के निर्माण को हटाने के लिए मोम एक हल्के एक्सफोलिएंट के रूप में भी काम करता है। पैराफिन मोम नमी में भी बंद हो सकता है और त्वचा को चमकदार खत्म कर सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

पैराफिन वैक्स के २-३ ब्लॉकों को पिघलाएं, और इसमें जैतून का तेल और लैवेंडर आवश्यक तेल मिलाएं।

अपने हाथों और पैरों को हल्के साबुन से साफ करें, उन्हें थपथपाकर सुखाएं और मॉइस्चराइजर लगाएं।

अपने हाथों और पैरों को पैराफिन वैक्स के मिश्रण में डुबोएं और कुछ सेकंड के बाद उन्हें ऊपर उठाएं। मोम को कुछ हद तक जमने दें।

अपने हाथों और पैरों को फिर से पैराफिन मोम के मिश्रण में डुबोएं, इस प्रक्रिया को 4-5 बार दोहराएं जब तक कि आपके हाथों और पैरों पर पैराफिन दस्ताने न बन जाएं।

अपने हाथों और पैरों पर एक प्लास्टिक बैग रखें और इसे कसकर ठीक करें। इसे लगभग 15 मिनट तक लगा रहने दें, जब तक कि वैक्स सख्त न हो जाए।

एक बार जब मोम सख्त हो जाए, तो पैराफिन मोम के साथ प्लास्टिक की थैली को हटा दें।

4. अपनी खुद की दही क्रीम बनाएं

दही में लैक्टिक एसिड होता है, जो त्वचा को रूखा, काला और पपड़ीदार बनाने वाली मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाकर त्वचा को गोरा बनाता है। इसके अलावा, दही में मौजूद विटामिन और प्रोटीन त्वचा को मुलायम बनाते हैं और उसे प्राकृतिक चमक देते हैं

शहद इस क्रीम का एक अन्य घटक है जो त्वचा को हाइड्रेट और पोषण देता है। हल्दी को इसके विरोधी भड़काऊ और जीवाणुरोधी गुणों के लिए भी जोड़ा जाता है जो त्वचा को शांत कर सकते हैं।

कैसे इस्तेमाल करे:

2 चम्मच दही में 1 चम्मच हल्दी मिलाएं। दही के मिश्रण में 1 बड़ा चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह मिला लें। इस क्रीम से अपनी त्वचा की कुछ मिनट तक मालिश करें। १०-१५ मिनट बाद इसे धो लें। सर्वोत्तम परिणामों के लिए इस उपाय को दिन में दो बार दोहराएं।

दही को बराबर मात्रा में गुलाब जल में मिलाकर 1 चम्मच वेजिटेबल ग्लिसरीन मिलाएं। अपने हाथों और पैरों की अच्छी तरह मालिश करने के लिए इस मिश्रण का प्रयोग करें। २-३ घंटे या रात भर बाद इसे धो लें। इस उपाय को रोजाना दोहराएं।

5. खीरा मलें

खीरा त्वचा को हल्का करने वाले एजेंट के रूप में कार्य करता है जो त्वचा की मलिनकिरण और कमाना में सुधार करता है। यह विटामिन ए की उपस्थिति के कारण काम करता है, जो मेलेनिन उत्पादन को नियंत्रित करने में मदद करता है। खीरा त्वचा को हाइड्रेट करने में भी मदद करता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

एक ताजा खीरे को पतले स्लाइस में काट लें और उन्हें 5 मिनट के लिए काली त्वचा पर रगड़ें। एक और 15 मिनट के लिए स्लाइस को त्वचा पर छोड़ दें, और फिर उस क्षेत्र को पानी से धो लें। इस उपाय को दिन में २-३ बार दोहराएं। आप अपनी त्वचा को हल्का करने के लिए आलू के स्लाइस को भी अपनी त्वचा पर रगड़ सकते हैं।

खीरे के रस में नींबू का रस मिलाएं और इस मिश्रण से अपनी त्वचा की मालिश करें। १०-१५ मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। इस उपाय को दिन में दो बार दोहराएं।

आप एलोवेरा जेल के साथ खीरे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। बस एक खीरे को 2 बड़े चम्मच एलोवेरा जेल के साथ मिलाएं और इस मिश्रण से अपने हाथों और पैरों पर मालिश करें। 10 मिनट बाद इसे धो लें। उपाय को दिन में दो बार दोहराएं।

6. संतरे के छिलके का मास्क बनाएं

संतरे के छिलके में उच्च विटामिन सी सामग्री त्वचा को ब्लीच करने में मदद करती है। इसके अलावा, संतरे के छिलकों में साइट्रिक एसिड होता है, जो त्वचा को एक्सफोलिएट करता है, जिससे त्वचा का रंग हल्का और साफ होता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

संतरे के छिलके के पाउडर को दही के साथ मिलाकर चिकना पेस्ट बना लें।

पेस्ट को अपने हाथों और पैरों पर लगाएं और 15-20 मिनट के बाद इसे हटा दें।

प्रभावी परिणाम के लिए इस उपाय को हफ्ते में 1-2 बार इस्तेमाल करें।

7. कच्चे दूध से मालिश करें

कच्चे दूध का प्रयोग त्वचा के कालेपन को दूर करने का सदियों पुराना उपाय है। कच्चे दूध में प्रचुर मात्रा में लैक्टिक एसिड त्वचा को एक्सफोलिएट और ब्लीच करता है। इसके अलावा, कच्चा दूध त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है, सूखापन और दरार को रोकता है। कच्चे दूध से रोजाना अपनी त्वचा की मालिश करने से समय के साथ त्वचा का कालापन हल्का हो सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

रोजाना कच्चे दूध से अपनी त्वचा की मालिश करें।

दूध को 20 मिनट तक त्वचा पर लगा रहने दें।

इसे धो लें।

8. मैश किया हुआ पपीता लगाएं

पपीता एक प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट माना जाता है जो आपकी त्वचा को चमकदार बना सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

पपीते की त्वचा के अंदरूनी हिस्से को डार्क एरिया पर मलें। क्षेत्रों को पानी से धोएं, और अपनी त्वचा को थपथपाकर सुखाएं।

एक पके पपीते को मैश करके उसमें 1 कप नींबू का रस मिलाएं। इस मिश्रण से अपनी त्वचा की कुछ मिनट तक मालिश करें। आधे घंटे बाद इसे ठंडे पानी से धो लें। इस उपाय को रोजाना दोहराएं।

9. दलिया और टमाटर का मास्क बनाएं

हाथों और पैरों का कालापन हल्का करने के लिए दलिया और टमाटर का मास्क

दलिया एक उत्कृष्ट प्राकृतिक स्क्रब है जो मृत त्वचा कोशिकाओं को एक्सफोलिएट करता है। टमाटर अपने ब्लीचिंग गुणों के कारण त्वचा को हल्का करने में योगदान देता है। टमाटर में लाइकोपीन भी होता है जो सूरज की क्षति को रोकता है।

ओटमील और टमाटर के मास्क का उपयोग करने से त्वचा में निखार आता है, जिससे त्वचा मुलायम होती है और प्राकृतिक चमक आती है।

कैसे इस्तेमाल करे:

2 बड़े चम्मच टमाटर का रस, 2 बड़े चम्मच दही और 4 बड़े चम्मच दलिया को मिलाकर पेस्ट बना लें।

पेस्ट को अपने हाथों और पैरों पर लगाएं।

15 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें।

10. बादाम मास्क का प्रयोग करें

बादाम राइबोफ्लेविन और विटामिन ई सहित पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जो त्वचा को गोरा करने में मदद करते हैं। बादाम का उपयोग त्वचा को फिर से जीवंत कर सकता है और सामान्य रूप से त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है।

कैसे इस्तेमाल करे:

7-8 बादाम रात को पानी में भिगो दें।

सुबह बादाम का छिलका उतार कर उसका पेस्ट बना लें।

बादाम के पेस्ट में 2 चम्मच दूध, 2 चम्मच बेसन और 6-7 बूंद नींबू का रस मिलाएं।

इस पेस्ट को अपने हाथों और पैरों पर मालिश करें और १०-१५ मिनट के बाद इसे धो लें।

हाथों और पैरों के कालेपन को हल्का करने के लिए सेल्फ केयर टिप्स:-

Hatho ko gora kaise kare

निम्नलिखित स्व-देखभाल के उपाय हाथों और पैरों के कालेपन को हल्का करने में उपयोगी हो सकते हैं:

त्वचा के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए संतुलित आहार का सेवन करें।

दिन भर में खूब पानी पीकर खुद को हाइड्रेट रखें।

त्वचा की सतह से गंदगी, धूल और अत्यधिक तेल को हटाने के लिए सप्ताह में 1-2 बार अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करें। यह मृत त्वचा कोशिकाओं के निर्माण को भी रोकता है, जो त्वचा के छिद्रों को बंद कर सकता है और समस्याएं पैदा कर सकता है। इसके लिए आप एक्सफोलिएटिंग ग्लव्स या स्क्रब का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अपनी त्वचा के स्वास्थ्य और चमक को बनाए रखने के लिए नियमित रूप से मॉइस्चराइजर लगाएं। अपनी त्वचा को हाइड्रेट करने के लिए एलोवेरा जेल, नारियल तेल और कोकोआ बटर जैसे प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र का प्रयोग करें।

अपनी त्वचा को तेज धूप से बचाने के लिए रोजाना सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। यदि आप लंबे समय तक बाहर रहने जा रहे हैं तो आप दस्ताने, मोजे और टोपी जैसे सुरक्षात्मक गियर भी पहन सकते हैं।

सबसे पहले अपनी त्वचा को काला होने से बचाने के लिए कठोर रसायनों या केमिकल युक्त उत्पादों के प्रयोग से बचें।

दूषित उपकरणों के माध्यम से फंगल संक्रमण से बचने के लिए अपने पेडीक्योर और मैनीक्योर किसी विश्वसनीय सैलून से करवाएं।

इसे भी पढे: Ghar pe facial kaise kare

Conclusion:-

Hatho ko gora kaise kare

अक्सर उपेक्षा, धूप में रहने या मृत त्वचा के जमा होने के कारण आपके हाथों और पैरों की त्वचा का रंग गहरा हो सकता है। हालांकि यह कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन अपनी त्वचा की उचित देखभाल करना सबसे अच्छा है, जो अंततः त्वचा को हल्का करने में योगदान देता है।

हाइपरपिग्मेंटेशन उपचार और रोकथाम के लिए बुनियादी त्वचा देखभाल में एक्सफोलिएशन, क्लींजिंग, मॉइस्चराइजेशन और धूप से सुरक्षा शामिल है। आप अपनी त्वचा को हल्का करने के लिए विभिन्न चिकित्सा उपचारों के लिए भी जा सकते हैं।

ओवर-द-काउंटर कॉस्मेटिक्स त्वरित परिणाम दे सकते हैं, लेकिन वे रसायनों से भरे हुए हैं जो लंबे समय तक त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। प्राकृतिक उपचारों का उपयोग करना सबसे अच्छा है जो आपकी प्राकृतिक त्वचा के रंग को बहाल करते हैं और इसे चमक देते हैं।

1 thought on “Hatho ko gora kaise kare | हाथों का कालापन कैसे दूर करें”

Leave a Comment